Lockdown Love Story

Lockdown Love Story | लॉक डाउन की लव स्टोरी हिंदी में | नफरत थी लडकों से

लव स्टोरी

Lockdown Love Story Disney+ Hotstar

दोस्तों, आपको यह बात जानकर खुशी होगी, कि प्यार किसी बंदिश को नहीं मानता। प्यार दो दिलों की आंतरिक भावना है। प्यार को किसी भी बंधन में नहीं बांधा जा सकता। दोस्तों आज आप एक ऐसी लव स्टोरी (Lockdown Love Story) पढ़ने जा रहे हैं। जो कोरोना काल के लगे लॉकडाउन (lockdown) ने सफल बना दिया।

Lockdown Love Story
Lockdown Love Story

दीया बहुत खूबसूरत लड़की थी। उसे हर चीज से प्यार था। परन्तु दिया लड़कों से नफरत करती थी। उसका मानना था कि लड़के सिर्फ लड़कियों से टाइम पास के लिए ही प्यार करते हैं या इनसे दोस्ती रखते हैं। इन्हें लड़कियों का इस्तेमाल करना है सिर्फ। पर इस स्टोरी में आगे ऐसा क्या हुआ, कि दिया रोशन का प्यार पाने के लिए तड़प उठती हैं और ऐसा क्या किया रोशन ने जो दिया का प्रेम दीपक जल उठा। आइए दोस्तों पढ़ते हैं lockdown ki love story

बात उन दिनों की है जब कोविड-19 का कहर शुरू होने ही वाला था। तथा Lockdown लगने वाला था। दीया अपने घर से दूर दूसरे जिले में इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रही थी। उसे लगा अगर कोविड-19 ज्यादा बढ़ा तो घर जाना मुश्किल हो जाएगा। उसने तुरंत घरवालों को फोन किया और मौजूदा स्थिति बताई। घर वालों ने उसे तुरंत घर आने को कहा। दिया ने घर जाने को ट्रेन का टिकट रिजर्व करवाया और घर जाने की तैयारी करने लगी। 

दीया को घर पहुंचने के लिए एक रात और आधे दिन का सफर ट्रेन में ही तय करना था। दीया ट्रेन में बैठ चुकी थी। करीब रात के 8:00 बजे ट्रेन है ऐसे स्टेशन पर रुकी जहां पर बहुत ज्यादा भीड़ थी और सभी लोग सारे रिजर्वेशन डिब्बे में घुसने लगे।

जानिए कैसे दिया और रोशन lockdown love story के दौरान पहली मुलाकात करते हैं 

दीया ने कोच में ऊपर का बर्थ रिजर्व करवाया था। ताकि वह आराम से सो सके।  पर काफी लोगों की भीड़ यात्रियों को सोये हुए को बैठाकर खुद उन सीटों पर बैठने लगे। दीया के पास चार-पांच लड़के आए और कहने लगे, “ए लड़की बैठ जा हम भी बैठेंगे।” दीया ने कहा, “अरे, ऐसे कैसे आप मेरी सीट पर बैठ सकते हैं, मेरी सीट रिजर्व हैं।” लड़कों ने कहा, “यह पूरा डिब्बा ही रिजर्वेशन का वाला है ट्रेन में जगह नहीं है इसलिए यहां पर बैठना है, सारे सोए हुए यात्री उठ चुके हैं। अब तुम भी उठ जाओ हम चार लोग इस सीट पर बैठेंगे।” इतना कहते ही सामने वाली सीट से रोशन उठा और कहने लगा “देखिए, यह लड़की सीट पर सो कर जाएगी और वह भी आराम से। आप इसे तंग मत करो।” लड़कों ने बोला, “ओए, हीरो तुझे क्या पड़ी है तेरी भी सीट पर और लोग बैठेंगे तू भी बैठ जा समझा।” रोशन ने कहा, “हां मैं मेरी सीट तुम लोगों को दे देता हूं, पर एक शर्त है, कि इस लड़की को तंग नहीं करोगे। तब तो तुम यहां मेरी सीट पर बैठ जाओ, और हाँ और लड़कों को इस सीट पर बैठने नहीं देना है। यह वादा करो।” लड़कों ने कहा, “ठीक है भाई, तेरी सीट दे दे।” रोशन अपनी सीट से नीचे उतर कर चुपचाप खड़ा हो गया।  उन सभी लड़कों को अपनी सीट बैठने को दे दी। 

lockdown love story नया मोड़ लेती हैं 

दिया यह सब देख रही थी। वह कुछ नहीं बोली और खुली आंखों करके लेटी रही। रोशन दिया कि सीट के नीचे खड़ा रहा। अगले स्टेशन पर कुछ और लोग उस डिब्बे में घुसने लगे। अब रोशन ने चार पांच साथी पहले ही बना लिए थे। तो सभी ने मेजॉर्टी दिखाते हुए दिया कि सीट पर किसी को नहीं बैठने दिया। अब ट्रेन सुबह तक किसी स्टेशन पर नहीं रूकने वाली  थी। 

करीब रात को 1:30 बजे दिया कि नींद खुली। तो देखा रोशन उसकी सीट के  सहारे नींद की झपकी ले रहा था। कभी-कभी तो गिरते-गिरते बचा था। दिया ने  रोशन को देखा तो उसका मन रोशन की हमदर्दी  का कायल हो गया। दीया ने सोचा कि ना तो ये मुझे जानता है और ना ही मुझेसे इस ने बात करने की कोशिश की, ना ही इंप्रेस करने की कोशिश की और खुद तकलीफ सहकर एक अनजान लड़की के लिए इतने लोगों से लड़ रहा है। दीया को रोशन की छवि ने पूरी तरफ से कायल कर दिया था। 

दीया को नींद नहीं आ रही थी। तो फिर खुली आंखों से रोशन को देखती रही। रोशन नींद में  झांकियां ले रहा था। दिया अपनी सीट से उठती है और रोशन को कहती है, “आप यहां पर मेरी सीट पर सो जाइए, आप को नींद आ रही है। मैं सीट पर बैठ जाती हूं।” रोशन ने कहा, “नहीं नहीं, आप सो जाइए मैं यहां ठीक हूं, आप परेशान मत होइए।” दीया ने कहा, “अरे, आप ऊपर आ जाइए इसमें कोई परेशानी मुझे नहीं होने वाली आप आराम से कुछ देर सो जाइए।” 

दीया ने जिद करके रोशन को अपनी सीट पर सोने दिया। सामने वाली सीट पर बैठे चार लड़कों में से एक को नींद नहीं आ रही थी और वह सब देख रहा था।  उसने दिया से कहा, “मैडम, मैं आपसे कुछ पूछना चाहता हूं आप नाराज तो नहीं होंगी।” दीया का दिल खुश था तो उसने कहा, “हां, पूछो क्या पूछना चाहते हैं।”  लड़के ने पूछा, “क्या आप इस लड़के को जानती हैं?” दिया ने कहा, “नहीं”  उस लड़के ने कहा, “मैडम इस लड़के ने आपकी मदद करने के लिए कितनी तकलीफ सही है और जाहिर है आपको भी ये नहीं जानता होगा। धन्य है इस भाई को जो अनजान लड़की के लिए इतनी परेशानी झेल रहा है। सोचो जो लड़की इसकी जिंदगी में आएगी वह तो जन्नत तक पहुंच ही गई यह समझो।” 

करीब डेढ़ घंटे बाद रोशन की नींद खुली और वह सीट पर बैठ गया। दीया उस वक्त अपने मोबाइल में कुछ वीडियो देख रही थी। रोशन ने कहा, “आप सोना चाहती हैं तो सो जाइए मैं नीचे उतर जाता हूं।” दीया ने कहा, “नहीं नहीं, मैं ऐसे ही ठीक हूं।”  

lockdown  love story ने दिया को कैसे रोमांटिक बना दिया 

दिया ने रोशन से पूछा, “आप कहां जा रहे हो?” रोशन ने कहा, “मैं जयपुर जा रहा हूं।” दीया ने फिर पूछा, “जयपुर में कहां रहते हो?” रोशन ने कहा, “मैं वैशाली नगर रहता हूं।” दीया ने कहा, “अरे, क्या बात है मैं भी तो जयपुर वैशाली नगर ही रहती हूँ, क्या बात है आप तो हमारे पड़ोसी निकले। क्या नाम है सर आपका दीया ने पूछा।”  रोशन ने अपना नाम बताया। दीया ने कहा, “आप क्या करते हो?” रोशन ने कहा, “मैंने MBBS कंप्लीट कर ली है। मैं डॉक्टर हूं।” दिया ने कहा, “वाह! क्या बात है डॉक्टर साहब, आपसे मिलकर तो मुझे बहुत अच्छा लगा। रोशन ने हंसते हुए कहा, “अच्छा जी।”

दीया ने कहा, “मैं इंजीनियरिंग कर रही हूं और Covid-19 के कारण मुझे घर जाना पड़ रहा है। दीया ने रोशन से पूछा, “आपको क्या लगता है कोरोनावायरस बढ़ने वाला है, शायद लॉकडाउन (lockdown) हो सकता है। रोशन ने कहा, “हां लॉकडाउन तो लग सकता है पर कोरोना जरूर बढ़ेगा। क्योंकि यह एक वायरस है जो एक से दूसरे तक ट्रांसफर होता है।” 

lockdown love story का रोमांटिक मोड़ आ गया 

दीया के मन में रोशन से बहुत कुछ जानने की इच्छा थी। पर जयपुर रेलवे स्टेशन  आ गया। दोनों ट्रेन से उतरे और कैब बुक की दोनों साथ-साथ वैशाली नगर पहुंचे। रास्ते में दिया ने रोशन से कहा, “आपको बहुत-बहुत धन्यवाद।” रोशन ने कहा, “किस किस बात के लिए।” दिया ने कहा, “आपने ट्रेन में मेरी इतनी हेल्प की है और वह भी बिना जान पहचान के।” रोशन ने कहा, “दीया जी, आप तो फिर भी मेरे पास की है, पर मुझे किसी लड़की पर जुल्म देखना अच्छा नहीं लगता। तो मुझे जो ठीक लगा मैंने किया।” दीया ने कहा, “तो क्या हम अच्छे दोस्त बन सकते हैं? अगर आप चाहे तो।” रोशन ने कहा, “हां क्यों नहीं दोस्तों हम बनी सकते हैं।” दोनों ने आपस में मोबाइल नंबर लिया और अपने घर पर चले गए। 

लॉक डाउन की घोषणा हो चुकी थी सभी लोग अपने अपने घरों में सुरक्षित थे। कुछ दिनों बाद रोशन ने अपना मोबाइल उठाया तो देखा व्हाट्सएप पर दीया के कुछ भेजे हुए गुड मॉर्निंग विशेज कोट्स थे। रोशन ने उन कोर्ट्स को देखा और गुड मॉर्निंग विश की। दीया रोज रोशन को कुछ मैसेज भेजने लगी।  

 1 दिन दिया ने रोशन को कॉल किया और पारिवारिक हालचाल पूछने लगी।  दीया अब धीरे-धीरे रोशन को सप्ताह में तीन चार बार कॉल करने लगी। रोशन को भी दिया से बात करके अच्छा लगने लगा। दोनों आपस में मोबाइल पर कॉल कर रहे थे धीरे-धीरे मोबाइल की कॉल प्यार की बातें सुनने लगी। समय बीतता गया अब दोनों दोस्ती से प्यार भरी बातें करने लगे। 

दीया  जिन लड़कों को देखकर नफरत की निगाहों से देखा करती थी। वह अब भूल चुकी थी कि लड़के खराब होते हैं। क्योंकि रोशन की अच्छाई ने उसका दिल जीत लिया था। 

और पढ़ें:-

Love Story | Love Story in Hindi | जिम में रेसलर से कर बैठी प्यार | रोमांटिक जिम

Love Story | लव स्टोरी | Phone Pe ने कर दी सेटिंग | Romantic Love Story

School Love Story | स्कूल लव स्टोरी इन हिन्दी, सच्चा प्यार सच्ची कहानी

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *