Success

Swami Vivekananda in Hindi स्वामी जी ने बताये सफलता के 4 सिद्धान्त और बलिदान

Inspiration Articles

स्वामी विवेकान्द जी ने बताये सफलता के 4 सिद्धान्त और बलिदान

      Swami Vivekananda in Hindi

Thought of Swami Vivekananda in Hindi

Swami Vivekananda in Hindi
                                         Swami Vivekananda in Hindi

Swami Vivekananda in Hindi हेलो दोस्तों, जो लोग महापुरुषों के बताए रास्ते फॉलो करते हैं, उन्हे उन रास्तों पर ठोकर नहीं खानी पड़ती। आज के इस आर्टिकल में स्वामी विवेकानंद जी द्वारा बताए गए चार Success मंत्र Follow करने पर आपके कम समय में ही सफलता के आयाम बनने लगेंगे।

इसलिए दोस्तों इस आर्टिकल्स को पूरा व ध्यान से पढ़ें ये सिद्धांत आपको छोटे व सादाहरण लग सकते हैं, परंतु इनकी ताकत के बिना कोई भी कामयाब ना तो बना है, ना कभी बन सकता हैं।

1.सपना देखना होगा (Gotta Dreams)

दोस्त अगर आप सपना देखते हैं, तो बड़े हिम्मत वाले हो। क्योंकि काफी लोग ऐसे भी हैं, जो सपना देखने की हिम्मत ही नहीं कर पाते। अगर जीवन में कुछ बनने का सपना नहीं देखोगे तो कुछ करने की हिम्मत कैसे कर पाओगे। सपना देखना सफलता की पहली सिड्डी होती हैं। इसलिये दोस्त….

Swami Vivekananda in Hindi

“देख मुसाफिर तू भी एक ऐसा सपना

सरताज तेरे सिर होगा, बना एक ख़्वाब अपना”

 

2. खुद पर विश्वास (Belive in Yourself)

जब आंखें खुली होती है, तब इंसान दूसरों पर विश्वास करता हैं। और आँखें बंद करके खुद की Positive Energy को पहचान लोगे तब ही खुद पर विश्वास कर पाओगे। और खुद पर किये गये विश्वास को दुनिया में आपके अलावा और कोई नहीं तोड़ सकता। इसलिए दोस्त..

“खुद पर एक एहसान कर, सिर्फ खुद पर विश्वास कर

सफलता द्वार पर खड़ी तेरे, सिर्फ अपने काम पर विश्वास कर”

 

 3. सोच बदलनी होगी ( Need to Change Thinking)

सोच का तरीका बदलने मात्र से आप अपने जीवन में U Trun ला सकते हैं। और हां सोचने का तरीका ही सफलता की ऊंचाई निर्धारित करता है। क्योंकि बुरे विचार कभी भी बदले में अच्छे परिणाम नहीं दे सकते। इसलिए दोस्त…

“सोच बने तो ऐसी बने, शुद्ध विचारों की खान हो

दूर्रविचार दूर हो, सोचने में भी ना किसी का अपमान हो”

4. धैर्य रखना होगा ( Have to be patient )

उत्तेजित होने वाले इंसान धैर्य में लगने वाले समय से भी ज्यादा इंतजार करते हैं। क्योंकि उनकी ग़लतियाँ उन्हें वापस वहीं पर लाकर खड़ा कर देती है, जहां से उन्होंने सफर शुरू किया था। अपनी बारी का इंतजार करें। क्योंकि दोस्त आपके धैर्य वान होने से सफलता की आप की ओर आने वाली गति बढ़ जाती हैं। इसलिए दोस्त…

“सब्र रखें उत्तेजित ना हो हैं ये इम्तिहान तेरा

तूँ रुका हुआ तो क्या सफलता खुद पुंछ रही है पता तेरा”

 

 सफलता के रास्तों में चार बलिदानी कदम

Swami Vivekananda in Hindi स्वामी जी ने बताये सफलता के 4 सिद्धान्त और बलिदान

Swami Vivekananda in Hindi

Success
Success

दोस्तों यदि आप जीवन में कुछ बड़ा करने की चाहत रखते हैं, तो आपने सपना जरूर देखा होगा। आपका देखा गया सपना सच हो मनचाही Success मिले। इसके लिए कुछ बलिदानी रास्तों से गुजरना ही पड़ेगा। इस आर्टिकल में बताए गए चार बलिदानी रास्तों पर चलते हैं तो आपकी Success खुद दरवाज़ा खटखटायेगी। पहला बलिदानी रास्ता……..

1. जागना पड़ेगा ( Have to wake up )

सफलता की राह में सबसे पहले अपने दिनचर्या का शेड्यूल चेंज करना होगा। क्योंकि जब दुनिया सोती है, तब आपको जागना होगा। और आपका सपना इतना आक्रमक होना चाहिए इतना आक्रमक होना चाहिए कि आप सोना चाहे फिर भी सो ना सके। क्योंकि जिसने अपने आराम को काम पर लगाया है, उन्हीं लोगों का सपना आराम से सच होता है। दोस्त जागना आपकी मजबूरी नहीं फैशन होना चाहिए। इस बलिदान के साथ-साथ आगे बताए गये तीन बलिदान और भी ज्यादा महत्वपूर्ण है। इन्हें Follow करने पर दुनिया की कोई ताकत आपकी कामयाबी को नहीं रोक सकती।

2.दर्द सहना पड़ेगा ( Have to bear the pain )

दोस्तों जब सपने बड़े हो, नींद ना आए, लोग गलत Comments कर रहे हो, तब जो पीड़ा होती है उसे सहन करना सीख लो। क्योंकि दोस्त यह दर्द ही आपके सपने सच होने में मर्रहम का काम करेगा। दोस्त का में भी हमेशा दर्द की कोख से ही जन्म लेती है।

3.हार के बाद भी काम करना पड़ेगा ( have to erduce even after defeat )

जितनी बड़ी सफलता होती है। उसे पहले हार के रास्तों से ही गुजरना पड़ा हैं। और हार से कभी भी हताश मत होना दोस्त क्योंकि हार ही परिवर्तन करने का संकेत देती है। इस पड़ाव पर आपको रोना आएगा रो लेना, पर रुकना मत। परिवर्तन को स्वीकार करके आगे बढ़ जाना। Success आपका Door खुद खटखटायेगी।

4. जिम्मेदारी लेनी पड़ेगी ( Have to take responsibility )

आप की दौड़ अगर बड़ी कामयाबी की तरफ रुख कर रही है। तो दोस्त आप को बड़ी ज़िम्मेदारी का स्वागत पहले करना होगा। जिम्मेदार लोग ही Success को संभाल सकते हैं। Success की राह में ज़िम्मेदारी का Risk आपको उठाना ही पड़ेगा। क्योंकि दोस्त ज़िम्मेदारी दी नहीं जाती, ज़िम्मेदारी ली जाती है।

MORE READ

How to Achieve Goal 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *