अच्छे लोगों के साथ बुरा क्यों ? good peoples

संबंध लेख

दोस्तों हर अच्छे व्यक्ति के साथ हमेशा बुरा हो यह जरूरी नहीं है पर हां कुछ तथ्यों में यह होता है क्योंकि अच्छे लोग सीधे होते हैं और जल्दी बेवकूफ लोगों इन्हे अपना शिकार बना लेते हैं क्योंकि जंगल में सीधे पेड़ सबसे पहले काटे जाते है। हम अच्छे लोगों की भावनाओं को सहराते हैं, इनकी बदौलत ही समाज में शांति व एकता बनी रहती है इनका व्यवहार ही लोगों को प्रेरित करता है। परंतु कुछ ऐसे तथ्य हैं जिनके चलते अच्छे लोग के साथ बुरा होता है……

1  हर किसी पर विश्वास करना

अच्छे लोग कभी चिकनी चुपड़ी बातों को जल्दी से नहीं समझ पाते और चालपूसी लोग इन्हें तुरंत अपने जाल में फंसा लेते हैं क्योंकि अच्छे लोग इन्हीं बातों को दिल से सुन लेते हैं और विश्वास कर बैठते हैं और विश्वासघाती हमले का शिकार हो जाते हैं।

2  भावनाओं से संवेदनशील होना

अच्छे लोग हमेशा भावनाओं से संवेदनशील होते हैं, इनकी भावनाओं को समझने वाले इंसान इन्हें किसी संत पुरुष से कम नहीं समझते इन की भावनाएं दिल छूने वाली होती है यह जो बातें बोलते हैं वह सीधा दिल पर दस्तक देती है यहां पर इनका जरूरत से ज्यादा संवेदनशील होना इनको किसी ना किसी धोखे का शिकार बनाता है पर यह धोखे को बड़ी सहजता से सहन तो कर लेते हैं पर ऐसे लोग जो इन्हें धोखा देते हैं वे कभी अपने जीवन में सुखी जीवन नहीं जी सकते।

3   सच्चाई में  समर्थन

अच्छे लोग हमेशा सच्ची बातें बोलना ही पसंद करते हैं वे कभी भी झूठ या दिखावे का समर्थन नहीं करते इन लोगों की अच्छी बातें इनके व्यक्तित्व की सच्ची गवाही होती है। इनका व्यक्तित्व हमेशा पारदर्शी ही होता है जो सच्चे लफ्जो में बयान होता है इनके सच्चे कथन कभी-कभी तो बड़े धर्म संकट में डाल देते है ऐसा धर्म संकट जहां पर से उबर पाना बहुत ही मुश्किल हो जाता है ऐसे सच्चे लोग कभी कभी दूसरे की परेशानी का कारण भी बन जाते हैं इन से परेशान व्यक्ति इन को नुकसान पहुंचाने की कोशिश में जुट जाते हैं।

4  चालाकियां ना समझना

कुछ व्यक्ति अपने कार्यों को चालकीयों से जल्दी पूरा करना चाहता है कई बार तो चालाकी से ही इन लोगों को सफलता मिल जाती है और सीधे-साधे लोग चालाकीयों के बारे में ना तो जानते हैं और ना ही करना चाहते ऐसे में सीधे-साधे लोग ही दूसरे की चलाकियों का शिकार सबसे पहले होते हैं जब नुकसान उठा चुके होते हैं तब इन्हें पता चलता है कि यह तो हमारे साथ चिटिंग हो गई।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *