Confidence

Confidence |आत्मविश्वास की ताकत, यह जानने के बाद खूब बढ़ेगा कॉन्फिडेंस

Inspiration Articles

Confidence |आत्मविश्वास की ताकत, यह जानने के बाद खूब बढ़ेगा कॉन्फिडेंस

Confidence ki tatkt (aatmvishavash)

Confidence
Confidence

 

दोस्तों यह आर्टिकल Motivation के साथ-साथ Power of the Confidence पर होने वाला है। इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपका Confidence (आत्मविश्वास) पक्का बढ़ने वाला है। इसलिए इस आर्टिकल को पूरा पढ़ना है, साथ ही शेयर भी करना है।

 दोस्तों इंसान जीवन यापन की जिंदगी में आत्मविश्वास (Confidence) को ज्यादा महत्व नहीं देता। परंतु जब जीवन पर आफत आती है, तब आत्मविश्वास कॉन्फिडेंस को सामने आना ही पड़ता है। या यूं कहें, बुरी परिस्थिति में कॉन्फिडेंस ही काम आता है। जब इंसान पर मुसीबत आती है, तब सबसे पहले उस मुसीबत को आपके आत्मविश्वास यानी कि कॉन्फिडेंस से लड़ना होता है। हां, अगर यहां पर आपका कॉन्फिडेंस लेवल तेज है, बहादुर है, बलवान है, तो आप आसानी से डटकर उस मुसीबत को जड़ से खत्म कर सकते हैं। अगर कॉन्फिडेंस लेवल गिरा हुआ है, तब इंसान का उस मुसीबत से हानि उठाना तय हैं।

दोस्तों इंसान का कॉन्फिडेंस लेवल कितना गहरा है, यह रोजमर्रा के संघर्षों से पता नहीं चलता। विकट परिस्थिति में ही कॉन्फिडेंस लेवल की गहराई का पता चलता है।एक छोटी सी कहानी जो की जीवन में बहुत कुछ सिखाती है। अब इसे ध्यान से पढ़ें:-

 एक दिन जंगल के राजा शेर को कुछ खाने को नहीं मिल रहा था। शेर काफी हताश हो चुका था। तभी शेर की नजर एक खरगोश पर पड़ी। शेर ने सोचा आज तो मुझे खरगोश से ही काम चलाना पड़ेगा। शेर खरगोश को पकड़ने के लिए दौड़ लगानी शुरू कर दी। जैसे ही खरगोश को पता चला तो उसने भी दौड़ना शुरू कर दिया। दोनों की दौड़ भयानक थी, बहुत तेज थी। परंतु शेर खरगोश को नहीं पकड़ पाया। खरगोश जाकर अपने बिल में छुप गया। शेर हांपता हुआ खरगोश के बिल के पास आकर बैठ गया। शेर ने कहा, भाई, मैं तुमसे वादा करता हूं, तुम्हें नहीं खाऊंगा, बस मेरे एक सवाल का जवाब दे दो।

खरगोश ने जब शेर का वादा सुना तो वह बिल से बाहर आया शेर ने कहा, आज तूम इतना तेज कैसे दौड़े, इतना छोटा है फिर भी मैं तुझे नहीं पकड़ पाया। इसकी क्या वजह है। तब खरगोश ने बड़ा ही छोटा, पर बहुत बड़ा उत्तर दिया, उसने कहा आप की दौड़ तो सिर्फ एक वक्त के खाने की थी, परंतु मेरी दौड़ तो पूरी जिंदगी को बचाने की थी। अगर मैं आपके हाथ लग जाता तो अपनी जिंदगी को हमेशा के लिए खो देता मेरी जिंदगी को बचाने के लिए आत्मविश्वास ने ही मुझे इस बिल तक सुरक्षित पहुंचाया है। शेर यह बात सुनकर खरगोश को छोड़कर अपने स्थान पर वापस चला गया। ये भी जरूर पढ़े:-

 स्वामी जी ने बताया सुखी जीवन का रहस्य The Secret Of Life

दोस्तों ये आत्मविश्वास की कहानी कितना कुछ सिखाती है। अक्सर देखा जाता है, जब इंसान के ऊपर कोई आपत्ति आती या फिर इंसान को किसी विकट परिस्थितियों से लड़ना होता है, तब सबसे पहले आत्मविश्वास को उस मुसीबत से सामना करना होता है। यूं कहें इंसान का सबसे बड़ा बॉडीगार्ड आत्मविश्वास ही है। आत्मविश्वास (कॉन्फिडेंस) जितना मजबूत होगा, आपकी सुरक्षा की उतनी ही गारंटी है। अगर आपका बॉडीगार्ड ही कमजोर है,तब आप बड़ी विकट परिस्थितियों का सामना कभी भी आसानी से नहीं कर पाओगे। इस आर्टिकल में है एक वीडियो अपलोड की जा रही है अब इस वीडियो को देखिए आप को मजबूत आत्मविश्वास की झलक देखने को मिलेगी।

वीडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *