Darr kaise dur kare | डर हमेशा डराता हैं | ये पढने के बाद कभी नहीं लगेगा डर

Inspiration Articles

          Darr  kaise dur kare | डर हमेशा डराता हैं | ये पढने के बाद कभी नहीं लगेगा डर  

दोस्तों डरना  इंसान की कमजोरी है और यह अपरिपक्व बुद्धि की निशानी है | डर को कैसे जीता जा सकता है? डर को कैसे दूर करें? (Darr Kaise Dur Kare)  इन सभी सवालों के जवाब आप इस आर्टिकल में पढ़ने वाले हैं |आइए जानते हैं कुछ महत्वपूर्ण डर जो जीवन में हम फेस करते हैं और इसे कैसे निपटा जा सकता है>>>>                       

darr ko kaise Door kare
darr ko kaise Door kare

पहले जब बच्चा चलने की कोशिश करता है| उसे गिरना पर पहले डर का एहसास होता है | इस जीवन काल में डर को कितनी बार महसूस करते हो |

चलते हैं तो गिरने का डर |

पढ़ते हैं तो फेल होने का डर |

सफलता की कोशिश में असफलता का डर |

काम शुरू करने से पहले होगा या नहीं का डर |

जीतने से पहले हारने का डर |

किए गए वर्तमान कार्य में भविष्य का डर |

सपने देखें तो पूरा न होने का डर |

बच्चों के भविष्य का डर |

बोलने से पहले कुछ गलत ना बोल जाऊं का डर |

लिखने से पहले कुछ लिख पाऊंगा या नहीं का डर |

नौकरी में बॉस का डर |

बिजनेस में नुकसान का डर |

कृषि में होने ना होने का डर |

जीते हैं तो मरने का डर |

स्वस्थ रहने में बीमारी का डर .

दोस्त इन संपूर्ण जीवन में हमें हर वक्त हर कदम पर सबसे पहले डर का एहसास होता है, और डर हमेशा  डरता है | डर हमेशा हमें कमजोर बनाने की निरंतर कोशिश करता है, ताकि हम आगे न बढ़े |

डर को हराना बहुत जरूरी है, नहीं तो यह हमें हरा देगा |  डर जब ज्यादा हावी हो जाता है | तो फिर इसे दूर भगाना बड़ा मुश्किल हो जाएगा | इस डर को भगाने के लिए कुछ करना चाहिए |

1  डर का सामना करना ही एक बड़ा हथियार है |

2  डर हमेशा हमें कुछ प्राकृतिक संकेत  देता है,  कि हम कुछ नया कर सके | तो उसकी बारीकियों को समझे वरना फेल हो जाओगे |

3 हमेशा हतोत्साहित (motivate) रहने व  जिज्ञासु बनने से डर हमें ज्यादा नहीं डरा सकता है |

4  बुद्धि को विकसित करना, क्योंकि डर हमेशा कमजोर बुद्धि की पहचान है |

5  विचारों में सकारात्मक को  बढ़ावा देना, क्योंकि नकारात्मक विचार डर को और बढ़ाते  हैं | तो हमारे सामने असफलता की तस्वीर प्रस्तुत करते हैं |

6  आत्मविश्वास को विकसित करने की बहुत जरूरत है | डर का सहयोगी है कॉन्फिडेंस कम होना |

7  संभावनाओं से पहले ही इलाज करना बहुत जरूरी है |

8  डर को  ज्यादा हावी ना होने दें | यह हावी होने पर हमारी  बुद्धि  को कमजोर  व सोचने की शक्ति में भी डर शामिल रहता है |

9 भविष्य में डर से वर्तमान कार्यों में सुधार जरूरी है |

10  समय  से संकेत को  समझते हुए आगे बढ़ना डर की प्रवृत्ति को खत्म कर देता है |

और पढ़े:-

Hindi Kahani | राजा द्वारा ली गई परिक्षा में मारा गया एक बेईमान मंत्री

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *