Interesting Facts About Life | सच्ची बातें

Interesting Facts About Life | सच्ची बातें | आज के समय की चार अद्र्स्य सच्चाई

फेक्टस

Interesting Facts About Life | सच्ची बातें | आज के समय की चार अद्र्स्य सच्चाई

Interesting Facts About Life (सच्ची बातें )
Interesting Facts About Life (सच्ची बातें )

हेलो दोस्तों, आप ये तो बखूबी जानते ही हैं, कि वक्त से बड़ा कोई बलवान नहीं होता। दुनिया में जो समय अभी चल रहा है। जो घटनाक्रम घट रहा है।  उस समय में लोग सुख की कामना तो रखते हैं। परंतु समय को कुछ और ही मंजूर है, समय का चक्र इंसान की खुशियों को निगलता ही जा रहा है। इसका मुख्य कारण कहीं ना कहीं इंसान खुद ही है। आइए दोस्तों जानते हैं आज के समय की चार ऐसी अद्रश्य सच्ची बातें (Interesting Facts About Life) जो कभी किसी को दिखाई नहीं देती। परंतु इसका प्रभाव आज हर व्यक्ति पर दिखाई दे रहा है।

दोस्तों, आज के समय चल रहे घटनाक्रम में हर व्यक्ति की भागीदारी है। कुछ लोग इस घटनाक्रम को अपना अच्छा योगदान दे रहे हैं। परंतु कुछ लोग बहुत ही खतरनाक योगदान इस घटनाक्रम में दे रहे हैं। आइए जानते हैं कुछ अद्रश्य सच्चाइया>>>>>> (Interesting Facts About Life | सच्ची बातें )

 1. एक व्यक्ति की गलती लाखों पर भारी (One person’s mistake is huge on millions)

दोस्तों, जब एक इंसान अनजाने में गलती करता है, तो उसकी सजा उसे खुद भोगनी पड़ती है। परंतु सोच समझकर की गई गलती का नुकसान हजारों लाखों को भोगना पड़ता है। इसका सबसे बड़ा उदाहरण अभी चल रहे कोरोना के रूप में आप देख सकते हैं। एक परिवार के मुख्य द्वारा की गई गलती पूरे परिवार को सजा देती है। इसी प्रकार राजतंत्र में मुख्य पद पर आसीन व्यक्ति द्वारा की गई गलती पूरी आवाम को सजा देती है। दोस्तों यह आज के समय की कटु सच्चाई है, “गलती कोई और करता है, चपेट में बहुत सारे लोग आते हैं। “

2. प्रकृति खुद का नुकसान कभी नहीं चाहेगी (Nature will never want to harm itself)

 दोस्तों, यह एक गहन विषय है। इतिहास इस बात का साक्षी है जब भी प्रकृति के खिलाफ कोई गलत कदम उठाया जाता है। तब प्रकृति उसका जवाब जरूर देती है। यह अटल सच्चाई है, कि प्रकृति खुद अपना नुकसान कभी बर्दाश्त नहीं कर सकती। परन्तु कुछ लोगों के गलत निर्णय की वजह से प्रकृति को नुकसान भोगना पड़ता है। तथा प्रकृति उल्टे में करोड़ों लोगों को सजा देती है। “इसी प्रकार आज करोड़ों लोग सजा के भागीदार बन बैठे हैं।”

 3. नास्तिक सोच विष का कारण (The reason for poisoning atheist thinking )

 दोस्तों, व्यक्ति का नास्तिक होना और आस्तिक होना व्यक्तिगत विषय है। परंतु अगर आस्तिक व्यक्ति द्वारा कोई निर्णय लिया जाता है। तो वह निर्णय हजारों लाखों लोगों को मंजूर होता है। इसी क्रम में अगर राजतंत्र के मुख्य पद पर आसीन नास्तिक व्यक्ति द्वारा कोई निर्णय लिया जाता है। तो वह निर्णय आवाम पर सिर्फ थोपा जाता है। आवाम निर्णय को मजबूरी में स्वीकार करती है। “दोस्त मानव समाज में कुछ नास्तिक लोगों की सोच समाज में द्वेष फैलाती है। विष घोलने का काम करती है।” दोस्एतों ये एक अद्रश्य सच्चाई है, जो कभी किसी को दिखाई नहीं देती। परंतु इसका प्रभाव आज देखा जा सकता है। 

 4. हर अच्छी वह बुरी सोच का अंत निश्चित है (Every good is the end of bad thinking)

 दोस्तों, आप खुली आंखों से जो कुछ देख रहे हैं। उनमें से काफी चीजें ऐसी होगी जो अब आपके सामने नहीं है। या फिर धीरे-धीरे लुप्त होती जा रही है। यह जीवन की अंतिम अदृश्य सच्चाई है, “जो दिखता है वह एक दिन जरूर मिलता है। “ दोस्तों इस संसार में जो भी निर्णय होते हैं वह एक अच्छी या बुरी सोच का ही परिणाम होता है। देर सवेर सभी सोच समय के घटनाक्रम में लुप्त होती चली जाती है। ऐसे ही बहुत सारी अदृश्य सच्चाईया हमारे समाज में विलीन होती जा रही है। जिनका सिर्फ प्रभाव ही देखा जाता है।

विडियो देखे  Click Here

 

और पढने के लिये यहाँ क्लिक करे:-

True Love in Hindi लड़किया लेती है प्यार का भरपूर मजा पढ़े एक दिलचस्प जानकारी

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *