Delhi IED Blast

दिल्ली में इजरायली दूतावास के बाहर 29 तारीख को ही क्यों हुआ धमाका

ट्रेंडिंग न्यूज़

Delhi IED blast Israel embassy दिल्ली में इजरायली दूतावास के बाहर 29 तारीख को ही क्यों हुआ धमाका

Delhi IED blast Israel embassy 29 29

Delhi IED Blast
Delhi IED Blast

Delhi IED blast Israel embassy भारत और इजराइल की कूटनीति दोस्ती के आज 29 साल पूरे हो चुके हैं.और यह धमाका एक सोची-समझी पैनिक फैलाने की कोशिश है. यह धमाका 5:05 पर ही किया गया. कुछ सूत्रों का कहना है कि यह धमाका सोची समझी साजिश है. अगर भारत की जांच एजेंसियाँ इसे सही से जांच करेगी तो इसमें बहुत बड़ी साजिश का पर्दाफाश होगा. क्योंकि स्पोर्ट पर बहुत ही अजीबोगरीब सबूत हाथ लगे हैं. जिनकी जांच फॉरेंसिक टीम बखूबी कर रही है.

हालांकि इस धमाके में गनीमत रही कि किसी  की जान नहीं गई. और इस धमाके की वजह से आसपास की कुछ गाड़ियों के शीशे जरूर टूटे हैं. परंतु किसी के मरने की खबर नहीं है. यह धमाका कुछ ना कुछ तो अपने आप में बयां करता है.

दिल्ली में इजराइली दूतावास के पास शुक्रवार शाम को यह धमाका देश की शांति के लिए एक बहुत बड़ी चुनौती है. फिलहाल  इस धमाके के पीछे के कारणों का पता जांच के बाद ही पता लग पाएगा. सूत्रों के हवाले से ये धमाका 29 29 को ध्यान में रखते हुए प्लान किया गया है. इस प्लान को देखते हुए यह सोचा जा सकता है कि हमलावर इस हमले के पीछे बहुत बड़ा संदेश देना चाहता है.

क्योंकि 29 तारीख को भारत और इजराइल  कूटनीतिक दोस्ती को 29 साल पूरे हो चुके हैं. आज 29 तारीख को ही बीटिंग रिट्रीट भी था. समय चुना गया 5:05 इसी समय पर देश के राष्ट्रपति कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसी समय पर बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी के लिए विजय चौक जा चुके थे. इसी समय पर ये आतंकी धमाका हुआ है. सूत्रों के नज़रिए से देखा जाए तो यह एक बहुत बड़ी साजिश थी. सूत्रों का कहना है की दूतावास के नजदीक फुटपाथ पर IED या विस्फोटक रखने या फेंकने की जांच की जा रही है जा रही है. IED को मिट्टी में लकड़ी के नीचे दबा कर रखने की जानकारी मिली है.

दिल्ली में इजरायल दूतावास के नज़दीक पिछले 36 घंटे की फोन कॉल  डिटेल खंगाला जा रही है. इस बीच NIA की टीम घटनास्थल से निकल चुकी है. 

अब देखना ये है की भारत का गृह मंत्रालय इस घटना की जांच के लिए किस एजेंसी का निर्धारण करता है. अगर भारतीय  गृह मंत्रालय NIA को जांच का दायित्व सौंपता है तो गृह मंत्रालय का CTCR डिविजन जल्द ही नोटिफिकेशन जारी करेगा.

 घटनास्थल सूत्रों का कहना है अभी तक एक ही IED का पता चल पाया है. फॉरेंसिक टीम लगातार सबूतों के आधार पर जांच कर रही है और फॉरेंसिक सबूत एकत्र करने के बाद सैंपल को जांच के लिए NSG के नेशनल बम डेटा सेंटर (NBDC) भेजा जाएगा. 

इजरायल दूतावास के बाहर धमाके के कुछ देर बाद ही विदेश मंत्री शिव शंकर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने भी अपने-अपने समीक्षकों से मीटिंग की है. विदेश मंत्री एस शंकर ने इजरायल के विदेश मंत्री गबे अशेकनाजी से बातचीत की और कहा कि यह घटना भारत के लिए एक चुनौती है. और हम इसे गंभीरता से ले रहे हैं. इस घटना में शामिल लोगों को बख्शा नहीं जाएगा.

 राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल  ने भी इजरायल में अपने समकक्ष मेर बेन-शाब्बत से बात की और दूतावास पर हुए घटनाक्रम की संपूर्ण जानकारी दी. 

इस घटना के बाद इजरायल की तरफ से यह हमला आतंकी करार दिया गया है. इजरायल के विदेश मंत्री गबे अशेकनाजी ने जानकारी दी कि दिल्ली में इजरायल दूतावास के सभी कर्मचारी सुरक्षित हैं. और जांच एजेंसियां सबूतों के आधार पर जांच शुरू कर चुकी हैं. 

More Read

KGF Chapter 2 का नया पोस्टर आया सामने. जुलाई 2021 में होगी फिल्म रिलीज

Romantic Love Stories in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *