Motivation in Hindi

Motivation in Hindi रो लेना परन्तु रुकना मत ( अकोले में रोने की ताकत )

मोटिवेशन कहानीयाँ

Motivation in Hindi रो लेना परन्तु रुकना मत ( अकोले में रोने की ताकत )

                            रो लेना परंतु रुकना मत Motivation in Hindi
“आज राहे वीरान स्तम्भ सी क्यों खड़ी दिख रही है, क्या मुझे ये कत्ल करेगी।
बता दो इन्हे में अजूबा सिरफिरा हू, क्या औकात इनकी जो मुझे ये रोकेगी।।”

Motivation in Hindi
                 Motivation in Hindi

Motivation in Hindi हेलो दोस्तों जीवन को स्ट्रेस फ्री रखने के लिए एक इंसान क्या कुछ नहीं करता है. आज के समय में मनो ख़ुशी को तो हम से कोई छिनता ही जा रहा है. परन्तु चाहे जो कुछ हो हम अपनी मंजिल को तो छू कर ही दम लेंगे। दोस्तों आज इस लेख में आप ये कहानी पढ़कर इतना Motivate हो जाओगे की लाइफ में संघर्षो के आगे रोना आएगा परन्तु रोकर भी आप उठ खड़े हो जाओगे। Motivational Story in Hindi
क्योकि दोस्त “उड़ान वो परिंदे भरते है जिनके पंख चाहे हो न हो, पर हौसला बुलंद होता है”

“साधारण दूध कभी कीमती नहीं होता परन्तु अपने आप को संघर्षो में झोक कर घी के रूप में खुद को कीमती बनता है.”
दोस्त कुछ लोग ऐसे होते है जो कुछ छोटी मोटी संघर्ष परीक्षा के आगे नस्मस्तक होकर रोने लग जाते है. ऐसे इंसानो पर हसना चाहिए या फिर तरस खाना चाहिए।
दोस्तों एक बात गांठ बांध लो चाहे आप स्टूडेंट्स हो, बिज़नेस मेन हो या फिर जॉब करते हो. जब जब आप रोयेंगे तब तब ये दुनिया आप पर हंसेगी आपका मजाक उड़ाएगी। आपको बेचारा कहकर निचा दिखाएगी। अगर इन सब से बचना चाहते हो तो अपना रोना आप अकेले में रोलेना परन्तु किसी और के सामने रोने की गलती मत करना।
दोस्तों इस लेख को आज पूरा पढ़ना. रवि IAS बना जो की एक ऐसी फैमेली से था जो सुबह इसी चिंता में उठता थी। की आज शाम को खाना कैसे मिलेगा। रवि गरीब किसान परिवार से था. पानी सुख जाने के कारण खाने को दाना भी नहीं होता था. रवि पढने में भी सामान्य था। पिताजी की लखवा आने से कुछ दिनों बाद मौत हो गई.
रवि के परिवार के पास अब आँसुओ के सिवा कुछ भी नहीं था. बहन की सगाई हो चुकी थी. उसकी शादी की एक नई चिंता थी. रवि को अब अपने भविष्य में अंधकार साफ दिखाई दे रहा था। रवि रो रो कर अपना आंसुओ का सुमंदर सूखा चूका था.
रवि को अकेले में रोने की ताकत ने हौसला दिया और ठाना की अब में कुछ कर सकता हु तो वो है सिर्फ और सिर्फ पढ़ाई। रवि ने अपनी पढ़ाई युद्ध स्तर पर शुरू कर दी। बहन ने सगाई में आये गहने बेच दिए। कुछ मदद दोस्तों से मिली। रवि ने पहली बार IAS की परीक्षा दी थी.
एक दिन रवि सो रहा था उसकी बहन पास खड़ी रो रही थी। उसके आंसू रवि के गलो पर गिरने की वजह से रवि की आखे खुल गई और उसने पूछा दीदी आप क्यों रो रहे हो? आपको क्या हो गया। Read More Motivational Story
बहन ने कहा रवि तू पास हो गया। ये ख़ुशी के आँसू ही है. रवि ने बहन को गले लगा लिया। ये बात माँ को पता चली तो उसकी ख़ुशी में दुवाओ का समंदर फुट पड़ा। दोस्तों रवि अगर दुनिया के सामने रोता तो उसे बेसहारा असहाय कहकर उसका जिंदगी भर उपहास ही होता। पर उसकी कोई मदद नहीं करता। इसलिए दोस्त अकेले में रोने से आपका हौसला खुद ही बढ़ने लगता है आपको किसी की हमदर्दी की कोई जरूरत नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *