5 Reason for Accidents दुर्घटनाओ के 5 कारण और उपाय (in Hindi)

फेक्टस

5 Reason for Accidents दुर्घटनाओ के 5 कारण और उपाय (in Hindi)

5 Reason for Accidents

5 Reason Of Accidents दुर्घटनाओ के 5 कारण और उपाय
5 Reason Of Accidents

5 Reason for Accidents दोस्तों जैसा कि आप देख रहे हैं, हर सुबह जब अखबार पढ़ते हैं या टीवी पर समाचार देखते हैं. उन सभी में दुर्घटनाओं की चर्चा जरूर होती है। ये रोज-रोज जब हम पढ़ते हैं, सुनते हैं, तो एक अजीबसा एहसास होता है. आखिर ऐसी कौनसी आदतें हैं जो दुर्घटना को अंजाम तक पहुंच सकती है। जानिए इन पांच कारणों से 

1. जल्दबाजी के शिकार (Hurried victim)

जल्दबाजी किसी भी कार्य में सही नहीं है। जल्दबाजी से उत्तेजना उत्पन्न होती है। और उत्तेजना कभी इंसान के मस्तिष्क को संतुलन में नहीं रहने देती। उत्तेजना से व्यक्ति की सोचने समझने की शक्ति प्रभावित होती है। जिससे व्यक्ति विपरीत परिस्थितियों में सुविचार नहीं कर पाता और दुर्घटनाओं का शिकार हो जाता है। चाहे पैदल चले या गाड़ी से या कोई काम करते हुए।

2. उचित निर्णयों में खामी (Flaw in proper decisions)

जब समयनुसार निर्णय लेना होता है, तब अच्छे विचारों,अच्छी सोच से निर्णय नहीं कर पाना दुर्घटनाओं का शिकार बनाता है। यह बात बहुत लोगों पर लागू होती है। वो हमेशा ऐसे निर्णय जल्दबाजी में लेते हैं। जो शांति व संयम के साथ लेने चाहिए। ऐसा निर्णय खुद के साथ-साथ दूसरों को भी नुकसान पहुंचाता है।

3. एक काम तीन सोच (One thought three things)

 इंसान एक काम को तो गहनता से कर नहीं पाता और साथ में तीन काम की और प्लानिंग कर रहा होता  है। ऐसे में जिस काम को कर रहा है। वहां पर तो दुर्घटना होना 100% तय है, क्योंकि दो नाव में सवार व्यक्ति हमेशा गिरता ही है। 

4. आपातकाल में धीरज खोना (Loss patience in emergency)

जब कोई अपना आपातकाल में हो तो यहां पर समझ से काम लेना चाहिए। समझदारी ही इंसान को सही निर्णय करने में सहायता करती है। ऐसे में इंसान भयभीत ना होकर परिस्थितियों का सामना करें तो ज्यादा उचित रहेगा।

5. लापरवाही युक्त कार्य (Negligent act) 

जब कोई व्यक्ति सर्विस से संबंधित काम कर रहा हो और उसमें लापरवाही बरती जाए तो निश्चित ही दुर्घटनाओं के पूरे- पूरे चांस रहते है। जब व्यक्ति काम कर रहा होता है तब भी विचारों की श्रंखला तो अवश्य ही चालू है और वो उनमें मग्न रहता है। इधर जो काम चल रहा है उससे ध्यान भटकने लगता है। जैसे ध्यान भटकेगा तब काम को पूरा व सुदृढ़ तरीके से नहीं करेगा। जिससे देर सवेरे जब उसके काम की आवश्यकता होगी तब वो काम फेल हो जाएगा। और बड़ी से बड़ी दुर्घटनाओं को अंजाम दे जाएगा।

 इसके कुछ उदाहरण भी हैं जैसे पुल का निर्माण,रेलवे ट्रैक का निर्माण,सड़क का निर्माण, भवन का निर्माण,गाड़ियों का निर्माण,लाइट का कार्य आदि ऐसे उदाहरण है जो जरा सी लापरवाही अनर्थ को अंजाम दे सकती है।

More Read 

लोगो के शरीफ़ चेहरे के पीछे भयानक चेहरा (Real Thoughts)

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *