Romantic Love Story दिव्यांग लड़की से प्यार Love Story

Most Romantic Love Story in Hindi | दिव्यांग लड़की से कैसे हुआ प्यार | पढ़िए

लव स्टोरी

Most Romantic Love Story in Hindi | दिव्यांग लड़की से कैसे हुआ प्यार

Most Romantic Love Story in Hindi
Most Romantic Love Story in Hindi

कहते हैं, “भगवान किसी को पूर्ण तरह से स्वस्थ बनाता है, तो उसे कुछ संघर्षों की परिभाषा खुद सीखने को कहता है। कोई दिव्यांग हो, तो वह बहुत कुछ हुनर साथ लेकर आता है|” आज आपके सामने प्रस्तुत हैं एक Most Romantic Love Story in Hindi जो एक दिव्यांग लड़की की कहानी हैं . ऐसा प्यार जो Romantic के साथ साथ जिम्मेदारी भी रखता हैं | आइए पढ़ते हैं ये Most Romantic Love Story>>>

काजल एक दिव्यांग लड़की है . उसे पढ़ने व पढ़ाने का बहुत शौक था | उसने अपनी पढ़ाई पूरी कर गोरमेंट टीचर का कंपटीशन फाइट किया और  एक सरकारी कर्मचारी (अध्यापक) पद प्राप्त कर लिया | काजल होनहार और खूबसूरत थी।परंतु शारीरिक दिव्यंगता को लेकर परिवार की सोच में चिंता थी . परिवार वालों का कहना था कि, इस लड़की से शादी कौन करेगा। इसे अपनाने वाला कैसा होगा। घर वालों को इन बातोँ को लेकर चिंता हो रही थी |

परंतु, काजल इस बात पर तनिक भी चिंतित नहीं थी | वह आराम से अपना काम कर रही थी | अध्यापक पद पर कार्यरत होने के बाद से तो काजल और भी ज्यादा चिंता मुक्त थी . काजल की पोस्टिंग शहर के सरकारी स्कूल में थी . उसी शहर में योगेश अपनी पढ़ाई पूरी कर रहा था|

एक दिन योगेश अपने कुछ काम से मार्केट में गया हुआ था। तभी एक सिरफिरा लड़का बाईक के साथ उस मार्केट में तेजी से निकल रहा था| तभी योगेश गली क्रॉस करते हुए बाइक से टकरा गया और पास ही खड़ी काजल की तीपहिया स्कूटी पर जा गिर। उसके हाथ में चोट लगी थी |

काजल अपनी स्कूटी पर ही बैठी थी। उसने योगेश को संभाला और कहा,“तुम्हें चोट तो नहीं आई”. योगेश ने कहा,“मुझे हाथ पर चोट लगी है”| मुझे हॉस्पिटल जाना चाहिए | काजल उसे अपनी स्कूटी में बैठाकर हॉस्पिटल लेकर गई | उपचार के बाद योगेश ठीक था | योगेश  ने काजल को धन्यवाद कहा | काजल ने कहा,“ठीक है” | अब मैं तुम्हें घर छोड़ देती हूं |” योगेश ने कहा,“आपको तकलीफ होगी, मैं चला जाऊंगा”|

काजल ने कहा, “अरे इसमें तकलीफ की क्या बात है | मैं छोड़ दूंगी, आप आइए”| काजल योगेश को घर छोड़ कर अपने घर चली जाती है | काजल  के परिवार वाले उसके लिए एक अच्छा सा लड़का ढूंढ रहे थे| कुछ दिनों बाद, योगेश कि रिश्ते की बात काजल के घर तक पहुंच गई |

काजल ने लड़के की फोटो देखी, तो उसे पहचान गई, यह तो योगेश है | घर वालो ने पुछा,“तुझे वह पसंद है या नहीं?”|काजल ने कोई जवाब नहीं दिया| समय बीतता चला गया | एक दिन,जिस स्कूल में काजल पढ़ाती थी। उसी स्कूल में योगेश किसी काम से आया था | योगेश अपना काम पूरा कर निकला तो उसे काजल सामने वाली क्लास में दिखाई दी|

योगेश काजल की क्लास में चला जाता है। योगेश को देखकर काजल खुश होती है और उसे कुछ देर स्टाफ रूम में बठने को कहती है | योगेश स्टाफ रूम  में काजल का इंतजार करने लगा। कुछ देर में काजल आ गई | दोनों मे परिवार को लेकर बातचीत होना शुरू हो गई | काजल ने कहा,“तुम्हारी शादी का रिश्ता मेरे घर पर आया था| तुम अपने शरीर से हठे –  खटे हो। और मैं दिव्यांग हूं।अपना मेल नहीं हो सकता |योगेश काजल को उसी दिन से चाहता था, पर कुछ कह नहीं पा रहा था | उसने कहा,“कि वह रिश्ता मेरे कहने पर ही आपके पास आया था, पर आपकी कोई प्रतिक्रिया नहीं आई| मैंने सोचा, आप शायद मुझे पसंद नहीं करती”|

काजल ने कहा,“ऐसी बात नहीं है| आप मुझे अच्छे लगते हो, परंतु, इतने में योगेश बोलता है,“आप मुझसे शादी करना पसंद करोगी? मैं आपसे शादी करने को तैयार हूं|” काजल ने कहा,“पर मैं दिव्यांग हूं”| योगेश ने कहा,“इससे मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता”| योगेश ने काजल का हाथ पकड़ते हुए कहा,“कि मुझे तुमसे प्यार करने का मौका दे दो प्लीज”|

काजल ने, योगेश को मुस्कुराते हुए हां कह दी| और दोनों की प्रेम कहानी शुरू हो गई | 2 माह बाद दोनों ने शादी कर ली|

 

और पढ़े :-

Love Story | Love Story in Hindi | जिम में रेसलर से कर बैठी प्यार | रोमांटिक जिम

Lockdown ki love Story | Romantic Lockdown ki Story | लॉक डाउन में हुआ प्यार

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *