Romantic love story बुलाती है मगर जाने का नहीं ( एक तड़फता प्यार )

लव स्टोरी

Romantic love story बुलाती है मगर जाने का नहीं ( एक तड़फता प्यार )

दोस्तों टाइटल देखकर आप समझ ही गए होंगे कि यह एक प्रेम कहानी होने वाली है जी हां यह एक बेहतरीन प्रेम कहानी है आइए  रूबरू होते हैं इस Romantic Love Story से

 

Romantic Love Story
Romantic Love Story

 राहुल सरिता से बहुत प्यार करता है. पर दोनों आपस में नहीं मिल पाते क्योंकि उन दोनों के बीच में दुनिया रुकावट बनी हुई है. जिसके चलते वे मिलना चाह कर भी नहीं मिल पा रहे हैं. दरअसल दोनों के बीच की समस्या कुछ इस तरह से है, राहुल एक गरीब परिवार से हैं.और सरिता अपने पांच भाइयों में इकलौती बहन और अमीर खानदान से संबंध रखती है.

सरिता राहुल से बेहद प्यार करती है. पर उसके परिवार में राहुल को उसकी गरीबी की वजह से टाला जा रहा था. राहुल सरिता से बहुत बार मिलने की कोशिश करता पर उसे मिलने नहीं दिया जाता ऐसा करते करते काफी समय बीत गया.

एक दिन सरिता ने राहुल को काफी इमोशनल भरा मैसेज किया. मैसेज को पढ़कर राहुल सरिता से हर हाल में मिलने उसके घर जाने की प्लानिंग करने लगा.और हिम्मत कर सरिता के घर पर चला जाता है. राहुल घर जाकर देखता है, कि सरिता के घर वाले सभी आपस में बातें कर रहे थे. और राहुल बीच में जाकर सभी से मिलने लगा तभी सरिता के भाइयों ने कहा यहां पर क्यों आए हो. तुम्हें पता है ना कि सरिता तुमसे नहीं मिल सकती.और तुम हमारे हैसियत के बराबर नहीं हो. यहां से चले जाओ वरना अपने पैरों पर नहीं जा पाओगे. इस कहानी में ट्विस्ट यह होना है राहुल सभी की सहमति से सरिता के साथ शादी करना चाहता है पर कैसे ?

तभी सरिता के पिताजी कहते हैं. रुको इसे आने दो अब राहुल आराम से था सरिता के पिताजी ने सरिता को बुलाया और पूछा क्या तुम भी इसे चाहती हो. तो सरिता ने घबराते हुए हामी भरी. पिताजी ठीक है, अगर तुम्हारा प्यार सच्चा है. तो तुम्हें एक परीक्षा देनी होगी. अगर तुम परीक्षा में पास हो जाते हो तो मैं तुम्हारी शादी करा दूंगा.

शर्त यह है, कि सरिता कल तुम्हें रोज कॉल करेगी. सिर्फ यह कहने के लिए कि तुम आ जाओ बस यही बात होगी अब राहुल तुम्हें कहना है कि मैं नहीं आ रहा. बस इतनी ही बात करनी है. यह परीक्षा तुम दोनों को 1 साल तक देनी है. अगर तुम दोनों ने 1 साल सही से इसे फॉलो किया तो मैं तुम्हारी शादी करा दूंगा.

राहुल व सरिता को शर्त आसान लग रही थी. तो उन्होंने मान ली. परंतु इसमें सरिता के पिताजी की चाल थी. उनका मानना था कि दोनों कम बात करेंगे और 1 साल तक आपस में नहीं मिलेंगे. और राहुल नहीं आऊंगा के जवाब में सरिता से मिलने कि सोचेगा भी नहीं. इससे यह होगा कि दोनों आपस में भूलने की आदत बना लेंगे और हमारा रास्ता साफ हो जाएगा.

परंतु दोनों ने अपने प्यार को पालना सीख लिया था. वे दोनों आपस में 1 साल तक दूर रहकर भी प्यार का पूरा आनंद ले रहे थे. और साल भर बाद जब पिता ने सरिता से पूछा क्या लगता है तुम्हें, राहुल अभी भी तुमसे प्यार करता है. सरिता ने कहा कल पता चल जाएगा. क्योंकि कल एक साल पूरा हो जाएगा. पिता ने कहा वो अब नहीं आएगा.

दूसरे दिन बहुत लोग इकट्ठा हो गए और राहुल का इंतजार करने लगे अब राहुल अपनी पूरी बारात ही सरिता के घर लेकर आ गया. सरिता के पिताजी और सभी दंग रह गए. सरिता ने कहा पिताजी आपने हमारे सारे रास्ते साफ कर दिए. यह हमारी पूजा थी जो हमने हर क्षण साल भर दिल लगाकर की.

अब आप अपना वादा पूरा करें. सरिता की पिताजी ने शर्त मुताबिक दोनों की शादी कराई और राहुल से कहा बेटा मेरी बेटी को तुम्हारे जैसा पति और मुझे इतना संयमी दामाद दोबारा नहीं मिलेगा. मैं तुमसे बहुत खुश हूं।

More Read

दिया के लिये प्यार था बिमारी कालेज में दे बैठी दिल

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *